loader

धनु राशि वर्षफल 2021

धनु राशि वर्षफल 2021

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार यह वर्ष 2021 धनु राशि वाले जातकों के लिये यह वर्ष कुछ संघर्ष के बाद सफलता देने वाला रहेगा । धनु राशि पर शनि की साढ़ेसाती का प्रभाव वर्षभर रहेगा जिसके प्रभाव से आय के स्रोत में कमी होगी आर्थिक समस्याओं के कारण जीवन में उलझने बानी रहेंगी ।
राशि स्वामी बृहस्पति गोचर में अपनी नीच राशि में संचार कर रहे हैं किन्तु साथ शनि अपनी स्वराशि में है जिसके प्रभाव से धनलाभ के योग बनेंगे किन्तु उसके लिये विशेष परिश्रम की आवश्यकता रहेगी । वर्षारम्भ में केंद्र त्रिकोण के संयोग से राजयोग बन रहा है जो एक सुखद संकेत है ।
विद्यार्थियों के लिए भी यह समय उत्तम रहेगा । वैवाहिक जीवन मे सुख की वृद्धि हो सकती है साथ ही आपके जीवन में यात्रा के योग भी बन रहा है । धनु राशि में बुध आदित्य योग बन रहा है जो नोकरी वालों को बेहतर परिणाम देगा, पराक्रम में वृद्धि होगी जो कि प्रभावशाली परिणाम प्रदान करेगा । पूर्व में किए गए निवेश में अच्छा लाभ मिलने का संयोग है । स्वास्थ्य की दृष्टि से भी चिंतित न रहें । सुख भाव में चतुर्ग्रही योग बन रहा है जो सुख में वृद्धि करेगा ।
फरवरी 22 से 1 जून तक मंगल सप्तम और अष्टम दृष्टि तथा 15 जून से 15 जुलाई तक सूर्य की सप्तम दृष्टि के कारण क्रोध बढ़ाने के योग हैं अतः जलबदजी में कोई निर्णय न करें अपनो के साथ कलह होने का भय रहेगा । फरवरी माह में धन में वृद्धि के योग हैं , किसी नए परिचित या अपरिचित के सहयोग से लाभ मिलने का योग बन रहा है ।
स्वास्थ्य की दृष्टि से सही समय है । प्रेमी जानो के लिए भी यह समय लाभ का रहेगा विदेश जाने वालों के लिये लाभ का समय है इस माह में अवश्य प्रयास करें । सूर्य के राशि परिवर्तन करने से सुख सम्बन्धी योग बनेगा और कार्यक्षेत्र में वृद्धि होगी क्रोध पर काबू रखने की कोशिश करें इससे आपको लाभ मिलेगा ।
6 अप्रैल से 13 सितम्बर तक बृहस्पति देव राशि परिवर्तन से कुछ धन लाभ के योग बनेंगे । जॉब करने वालों के लिये यह समय इंक्रीमेंट संबंधी संयोग बन रहे हैं । बिजनेस करने वालों के लिये कुछ चिंतित समय रहेगा क्योंकि व्यापार भाव मे अंगारक योग बन रहा है जो अच्छा फल नहीं देता ।
6 सितम्बर से 21 अक्टूबर तक पुनः मंगल की दृष्टि पड़ने से क्रोध बढ़ेगा अतः इससे बचाव करें । 14 sep से 19 nov तक बृहस्पति देव पुनः नीच राशि में आ जाएंगे जिससे आर्थिक उलझने बढ़ सकती हैं तथा सेविंग्स का व्यर्थ में खर्च होने के योग बन रहे हैं । 20 nov से वर्ष के अंत तक समय शुभ रहेगा ।
उपाय- ●बृहस्पतिवार के 16 व्रत विधि पूर्वक रखें । तथा व्रत कथा का पाठ अवश्य करें ।
● शनि की साढ़ेसाती के प्रभाव से बचने के लिये शानिचालिसा स्तोत्र का नित्य पाठ करें ।
– डॉ. वी के शास्त्री –

Call Now